गोलाकोट न्यूज़ अपडे   

सुचना अतिशय क्षेत्र तीर्थोदय गोलाकोट

जहा बरसती है 3000 वर्ष प्राचीन प्रतिमा भगवान आदिनाथ की अनूठी कृपा जहा आने पर भक्तो का मन हो जाता है निर्मल ऐसे पावन तीर्थ से देखिये अभिषेक एंव शांतिधारा का भव्य प्रसारण 5 मई 2020 से प्रतिदिन प्रात: 8:25 बजे सिर्फ पारस टीवी चैनल पर।

गोलाकोट का इतिहास

आज हम आपको गोलाकोट के इतिहास से अवगत कराते है

श्री दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र तीर्थोदय गोलाकोट जी गोल आकार पहाड़ी पर बना हुआ है। इसीलिए इस मंदिर को गोलाकोट जी कहा जाता है। यह मंदिर खनियाधाना से 8 किलोमीटर दूर दक्षिण दिशा में बुंदेलखंड विंध्याचल पंच पर्वतों के मध्य स्थित है। श्री तीर्थोदय गोलाकोट मंदिर जैन समाज के लिए अतिविशिष्ट स्थान रखता है। यही कारण है कि यहां जैन मुनियों और संतों का आवागमन लगा रहता है। चातुर्मास के दौरान भी हमारे पूज्य संतों ने इस पावन धरा को पवित्र किया है। तलहटी से 264 सीढ़ियां चढ़ने के उपरांत गोलाकोट मंदिर जी पहुंचा जा सकता है।

गैलरी

छवि गैलरी //

गैलरी

अतिशय क्षेत्र तीर्थोदय गोलाकोट

अपकमिंग ऐडवेंचर ऐक्टिविटीज़

Sunrise and Sunset Point

Rope Way

Guide Trekking

Kayaking

Musical Fountain

Hathkargha

Zipline

Herbal Garden

Mountain Cycling

Translate »